शनिवार, 17 अगस्त 2013

इण्डोनेशिया की प्राचीन हिन्दू संस्कृति | Hindu-Vedic Culture of Ancient Indonesia



७वीं - ८वीं सदी तक इण्डोनेशिया में पूर्णतया हिन्दू-वैदिक संस्कृति ही विद्यमान थी इसके आज भी अनेकों प्रमाण मिल रहे है तथा कई तो निर्भय होकर मूरत रूप में खड़े है

 निम्न जानकारी लाल कृष्ण आडवाणी जी के ब्लॉग से ली गई है --

कुछ वर्ष पूर्व मेरे एक मित्र ने दुनिया के सर्वाधिक मुस्लिम जनसंख्या वाले देश इण्डोनेशिया से लौटने के बाद कच्छ के आदीपुर (गुजरात) में मुझे एक 20 हजार रुपया वहां की करेंसी का नोट दिखाया जिस पर भगवान गणेश मुद्रित थे। मैं आश्चर्यचकित हुआ और प्रभावित भी ।

जब पिछले महीने इण्डोनेशिया की राजधानी जकार्ता से सिंधी समुदाय के कुछ महानुभावों के समूह ने 9,10 तथा 11 जुलाई 2010 को जकार्ता में होने वाले विश्व सिंधी सम्मेलन में आने का न्यौता दिया तो मैंने इसे तुरन्त स्वीकारा । इसका कारण यह था कि मैं इस देश पर भारतीय सभ्यता और विशेष रुप से रामायण और महाभारत जैसे महाग्रंथों के प्रभाव के बारे में अक्सर सुनता रहता था। करेंसी नोट पर गणेशजी का छपा चित्र इसका एक उदाहरण है।

मेरी पत्नी कमला, सुपुत्री प्रतिभा, दशकों से मेरे सहयोगी दीपक चोपड़ा और उनकी पत्नी वीना के साथ मैं 8 जुलाई को यहां से रवाना हुआ तथा 13 जुलाई को इस यात्रा की अविस्मरणीय स्मृतियां लेकर लौटा। इण्डोनेशिया में 13,677 द्वीप हैं जिनमें से 6000 से ज्यादा पर आबादी है। वहां की कुल जनसंख्या 20.28 करोड़ में से 88 प्रतिशत से अधिक मुस्लिम और 10 प्रतिशत ईसाई हैं। यहां की 2 प्रतिशत हिन्दू आबादी मुख्य रुप से बाली द्वीप में रहती है।
Bali  Brand Logo
बाली द्वीप के लिए हाल ही में स्वीकृत किया गया नया ब्राण्ड ‘लोगो’ (प्रतीक चिन्ह) देश की हिन्दू परम्परा का प्रकटीकरण है। इण्डोनेशिया के पर्यटन मंत्रालय का प्रकाशन इस प्रतीक चिन्ह को इस प्रकार बताता है, त्रिकोण (प्रतीक चिन्ह की आकृति) स्थायित्व और संतुलन का प्रतीक है। यह तीन सीधी रेखाओं से बना है जिनमें दोनों सिरे मिलते हैं, जो सास्वत, अग्नि (ब्रह्मा- सृष्टि निर्माता), लिंग या लिंग प्रतिमान के प्रतीक हैं। त्रिकोण् ब्रहमाण्ड के तीनों भगवानों - (त्रिमूर्ति- ब्रह्मा, विष्णु और शिव), प्रकृति के तीन चरणों (भूर, भुव और स्वाहा लोक) और जीवन के तीन चरणों (उत्पत्ति, जीवन और मृत्यु ) को भी अभिव्यक्त करते हैं। प्रतीक चिन्ह के नीचे लिखा बोधवाक्य शान्ति, शान्ति, शान्ति भुवना अलित दन अगुंग (स्वयं और विश्व) पर शान्ति, जोकि एक पावन और पवित्र सिरहन देती है, जिससे गहन दिव्य ज्योति जागृत होती है जो सभी जीवित प्राणियों में संतुलन और शान्ति कायम करती है।

यहां 20000 रुपये के करेंसी नोट का नमूना दिया गया है। जैसा मैंने ऊपर वर्णन किया कि कुछ वर्ष पूर्व मैंने इसे देखा था और तभी तय किया था कि यदि मुझे इस देश की यात्रा करने का अवसर मिला तो मै स्वयं जा कर इसे प्राप्त करुंगा तथा औरों को दिखाऊंगा।
Indonesian Rupiah with Ganesha inscription

जकार्ता जाने वाले यात्रियों के लिए इण्डोनेशिया की राजधानी जकार्ता के उत्तर-पश्चिम तट पर स्थित शहर के बीचोंबीच भव्य निर्मित अनेक घोड़ों से खिंचने वाले रथ पर श्री कृष्ण-अर्जुन की प्रतिमा सर्वाधिक आकर्षित करने वाली है।
Krishna-Arjuna statue at Jakarta main square


इण्डोनेशिया में स्थानों, व्यक्तियों के नाम और संस्थानों का नामकरण संस्कृत प्रभाव की स्पष्ट छाप छोड़ता है
Bheema statue


निश्चित रूप से यह जानकर कि इण्डोनेशिया में सैन्य गुप्तचर का अधिकारिक शुभांकर (mascot) हनुमान हैं, काफी प्रसन्नता हुई। इसके पीछे के औचित्य को वहां के एक स्थानीय व्यक्ति ने यूं बताया कि हनुमान ने ही रावण द्वारा अपहृत सीता को जिन्हें अशोक वाटिका में बंदी बनाकर रखा गया था, का पता लगाने में सफलता पाई थी।

हमारे परिवार ने चार दिन इण्डोनेशिया - दो दिन जकार्ता और दो दिन बाली में बिताए।

बाली इस देश के सर्वाधिक बड़े द्वीपों में से एक है। यहां के उद्योगों में सोने और चांदी के काम, लकड़ी का काम, बुनाई, नारियल, नमक और कॉफी शामिल हैं। लेकिन जैसे ही आप इस क्षेत्र में पहुंचते हैं तो आप साफ तौर पर पाएंगे कि यह पर्यटकों से भरा हुआ है। लगभग तीन मिलियन आबादी वाले बाली में प्रतिवर्ष एक मिलियन पर्यटक आते हैं।

इस द्वीप की राजधानी देनपासर है। हमारे ठहरने का स्थान मनोरम दृश्य वाला फोर सीजंस रिसॉर्ट था जो समुद्र के किनारे पर है और हवाई अड्डे से ज्यादा दूर नहीं है। रिसॉर्ट जाते समय रास्ते में मैंने जकार्ता में कृष्ण-अर्जुन जैसी विशाल पत्थर पर बनी आकृति देखी हालांकि यह जकार्ता में देखी गई आकृति से अलग किस्म की थी।

मैंने अपनी कार के ड्राइवर से पूछा: यह किसकी प्रतिमा है? और क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि जब उसने जवाब दिया तो मैं आश्चर्यचकित रह गया। उसने बताया, ”यह महाभारत के घटोत्कच की प्रतिमा है।” उसने आगे बताया ”और शहर में इस आकृति में घटोत्कच के पिता भीम को भी दिखाया गया है जो दानव से भीषण युध्द कर रहे हैं!”
Ghatotakacha (Son of Bheema) statue near the Ngurah Rai International Airport

भारत में, इन दोनों महाकाव्यों रामायण और महाभारत में से सामान्य नागरिक रामायण के अधिकांश चरित्रों को पहचानते हैं। लेकिन महाभारत के चरित्र कम जाने जाते है।वस्तुत:, भारत में भी बहुत कम होंगे जिन्हें पता होगा कि घटोत्कच कौन है? और वहां हमारी कार का ड्राइवर भीम से उसके रिश्ते के बारे में भी पूरी तरह से जानता था। : D

जकार्ता में सिंधी सम्मेलन और बाली में हमें रामायण के दृश्यों के मंचन की झलक देखने को मिली जो भारत में प्रचलित परम्परागत रुप से थोड़ा भिन्न थी। कलाकारों का प्रदर्शन तथा प्रस्तुति और जिन स्थानों पर यह प्रदर्शन देखने को मिले वहां का सामान्य वातावरण भी पर्याप्त श्रध्दा और भक्ति से परिपूर्ण था।

मैं यह अवश्य कहूंगा कि इण्डोनेशिया के लोग हमसे ज्यादा अच्छे ढंग से रामायण और महाभारत को जानते हैं और संजोए हुए है।

-- लाल कृष्ण आडवाणी
नयी दिल्ली

१७ जुलाई, २०१०

Archaeology--
इसके अतिरिक्त शिव जी तथा गणेश जी का एक १००० वर्ष पुराना मंदिर भी खुदाई में प्राप्त हुआ है शोधकर्ताओं का कहना है की १० वीं सदी में हुए भयंकर ज्वालामुखी विस्फोट के कारन ये मंदिर लावे की तह में दब गया था तथा उनका कहना है की अब तक पूरी दुनियां में प्राप्त हुई  विरासतों में यह सबसे उत्तम अवस्था में है

"This temple is a quite significant and very valuable because we have never found a temple as whole and intact as this one," said archaeologist Dr Budhy Sancoyo, who is one of the researchers painstakingly cleaning up the temple.




इण्डोनेशिया की विमान सेवा का नाम भी विष्णु जी के वाहन गरुड़ के नाम पर रक्खा गया है


Garuda , the vehicle ( Vimana ) of Lord Vishnu , holds an important role for Indonesia, as it serves as the national symbol of Indonesia.

इण्डोनेशिया के प्राचीन हिन्दू मंदिरों की कई अन्य तस्वीरें --


Archaeologists found a statue of Ganesha, a Hindu deity, during their excavations on the campus of the Islamic University, Indonesia










EVEN MORE --

Bali, Indonesia - 
Mother Temple of Besakih, Karangasem Regency (the biggest Hindu temple in Indonesia)
Pura Ulun Danu Bratan
Pura Luhur Ulu Watu
Kehen Temple, southern slope of Bangli hill
Makori temple, Bali
Batur Temple (Ulun Danu temple), Kalanganyar Batur village, Kintamani
Watukaru Temple, Wangaya Gede village, Tabanan
Pucak Penulisan, Kintamani
Pancering Jagat, Trunyan village, Kintamani
Jagadnatha, Jalan Mayor Wisnu, Puputan Square
Maospahit Denpasar, Banjar Gerenceng
Tanah Lot, Marga
Goalawah
Tirtha Empul Temple
Sakenan, boat Pirelli, Klungkung Regency
Taman Ayun
Pengerebongan, Kesiman Culture Village, Kesiman Petilan Village, District of East Denpasar

Lombok
Lingsar Temple, 7 kilometer from Narmada, one hour drive to east from Mataram, Hindu Temple, but at some occasions is used also by Animism Islamic Wektu Telu which only do the prayer 3 times a day
Java

Prambanan Temples
Parahyangan Agung Jagat Kartta Temple, Warung Loak Village, Taman Sari, Bogor Regency (the second biggest Hindu temple in Indonesia)
Ijo Temple
Barong Temple
Sambisari Temple
Kedulan Temple
Gebang Temple
Pustakasala Temple
Dieng Temples
Sukuh Temple
Cetho Temple
Penataran Temple
Kidal Temple
Surawana Temple

North Sumatra
Shri Sithi Vinayagar Kuil, Karang Sari, Polonia Medan
Shri Balaji Venkateshwara Koil, Jln.Bunga Wijaya Kesuma/Pasar IV,Padang Bulan, Medan
Shri Mariamman Kuil, Jalan Teuku Umar, Kampung Madras, Medan
Thandayuthapani Temple, Medan
Shri Kaliamman Kuil, Jalan Zainul Arifin, Medan
Maha Muniswarar Temple, Medan
Arulmigu Shri Maha Mariamman Koil, Sampali
Shri Thendayudhabani Koil, Jln.Sultan Hasanuddin, Lubuk Pakam
Shri Subramaniam Nagarattar Kuil (Chettiar Kuil), Jalan Kejaksaan, Kebun Bunga, Medan
Shri Maha Shiva Shakti Kuil, Karang Sari, Medan
Shri Mariamman Kuil, Medan Helvetia
Shri Singgama Kali Kuil, Jalan Karya, Medan Barat
Shri Kaliamman Kuil, Jalan Karya, Medan Barat (persis di sebelah Vihara Manggala)
Shri Mariamman Kuil, Bekala, Medan Simalingkar B
Shri Rajarajeshvari Amman Kuil, Selesai, Binjai Barat
dan puluhan kuil lainnya namun berukuran kecil dan tersebar di hampir seluruh kota Medan

Jakarta
Sri Siva Temple, Pluit (Indian Hindu Style)
Shri Bathra Kaliamman Koil, Komplek Perumahan Puri Metropolitan, Jl. Krisan Asri V, Blok B3, No. 20-22, Gondrong Petir, Cipondoh - Tangerang

Pura Aditya Jaya, Jl. Daksinapati Raya 10, Jakarta, Indonesia

अब बताइए हिन्दुत्व  की इतनी गहरी छाप तो हिन्दुस्थान में भी नही है !!

http://www.telegraph.co.uk/news/worldnews/asia/indonesia/9632337/Largest-ancient-Hindu-temple-discovered-in-Indonesia.html

Thanks to :
L.K Advani



TIME TO BACK TO VEDAS
वेदों की ओर लौटो । 

सत्यम् शिवम् सुन्दरम्

6 टिप्‍पणियां:

  1. सचमुच ज्ञानवर्धक, इंडोनेशिया के बारे में जानकर बहुत अच्छा लगा...

    उत्तर देंहटाएं
  2. नयी जानकारी सदा रोमांच देती है। और यदि वह भारत के सांस्कृतिक गौरव से भरी हो और अधिक सुखद अनुभूति के साथ रोमांचित करती है। साधुवाद इस अप्रतिम जानकारी के लिए।

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपके ब्लॉग को ब्लॉग संकलक ब्लॉग - चिठ्ठा में शामिल किया गया है। सादर …. आभार।।

    नई चिठ्ठी : "ब्लॉग-चिठ्ठा" की नई कोशिश : "हिंदी चिठ्ठाकार" और "तकनिकी कोना"।

    कृपया "ब्लॉग - चिठ्ठा" के फेसबुक पेज को भी लाइक करें :- ब्लॉग - चिठ्ठा

    उत्तर देंहटाएं
  4. Ji..han me vi Indinesia gaya tha...
    Ek or bat mene thailand airport me dekhi...airport ka name swarnbhoomi international airport tha or uske andar samudra manthan ki jo bhavya pratima thi dekhte hi dil khush ho gaya

    उत्तर देंहटाएं
  5. अब बताइए हिन्दुत्व की इतनी गहरी छाप तो हिन्दुस्थान में भी नही है !!--ऐसा कहना उचित नहीं है ,परत्नु लेखक का प्रयास और प्रस्तुत तथ्य दोनों की उल्लेखनीय है...बहुत ही आभार !!!!

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...